35 घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद बोरवेल में फंसे 4 साल के बच्चे काे बचाया गया

देवास: यहाँ के जिला मुख्यालय से लगभग 125 km दूरी पर स्थित खातेगांव में बोरिंग के गड्ढे में गिरे चार साल के मासूम को 35 घंटे तक चले रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद सही सलामत निकाल लिया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, बोरिंग से निकाला बच्चा पूरी तरह से ठीक है लेकिन उसे डॉक्टरों की निगरानी में खातेगांव के निजी अस्पताल में रखा गया है।बता दें कि घटना ग्राम कंजीपुरा थाना खातेगांव की है। यहाँ रहने वाले रोशन पिता भीमसिंह कोरकू उम्र 04 साल पड़ोसी ग्राम उमरिया निवासी हीरालाल जाट के खेत मे बने ट्यूबवेल के गडढे में 10 मार्च को लगभग 12:00 बजे गिर गया था। बोर की गहराई लगभग 100 फीट थी किन्तु ऊपरी हिस्से में 09 इंच और 35 फ़ीट के बाद 06 इंच चौड़ा था।

बच्चा गिरने के बाद इसी 06 इंच के मुहाने पर फंसा रहा। लगातार उसने पिता के कहे अनुसार दूध, पानी पिया और जब रेस्क्यू दल ने ऊपर से निकालने के विकल्प पर काम किया तो दोनों हाथों से रस्सी के फंदे अपने हाथों पर फंसा लिया और हँसते हँसते बाहर आ गया ।

बच्चे को सेना ने 35 घंटे की मशक्कत के बाद बाहर निकाला। सेना के अनुसार टनल वाले प्लान में समय लगने की वजह से सेना द्वारा प्लान 2 बनाया गया। इसमें रिस्क ज्यादा था पर अगर बच्चा थोड़ा मजबूती दिखाएं तो प्लान सक्सेस हो सकता है और वैसा ही हुआ। उसके बाद रस्सी बनाई गई जिसमें गठानों का बंच बना और उसे नीचे फेंका गया।

बच्चे को बोला गया किसी अपने हाथों में जकड़ना है बच्चे ने ठीक वैसा ही किया और धीरे धीरे रस्सी खींची गई इसमें बच्चे के हाथ उखड़ सकते थे लेकिन बच्चे की विल पावर स्ट्रांग होने की वजह से बच्चा सुरक्षित बाहर आ गया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bitnami